मै भी स्वस्थ हूँ

मेरा नाम शिवकुमारी है, मेरे समूह का नाम लक्ष्मी महिला स्वंय सहायता समूह है, मेरी इस समय दो लडकियां है। आज से चार साल पहले जब मैं समूह में नही थी तब मेरे परिवार कि स्थिति बहुत अच्छी नही थी। मेरे पति बाहर काम करते है। मेरी एक छोटी बच्ची है, जो हमेशा बीमार ही रहती थी। इस कारण हम लोग भी परेशान रहते है कि बच्ची का स्वास्थ्य कैसे सही होगा। फिर एक दिन मैं अपनी लडकी को अस्पताल दिखाने के लिए गयी तो वहां पर हमारी मुलाकात कुछ समूह कि बहनों से हुई उन्होने अपनी परियोजना का नाम राजीव गांधी महिला विकास परियोजना बताया जिसमें
समूह के माध्यम से स्वास्थ्य संबन्धित बहुत सी जानकारियाँ दी जाती है। उनकी बाते सुनकर मुझे बहुत अच्छा लगा और मैं भी समूह में जुड गयी। जब मेरी पहली लड़की का जन्म हुआ तब मेरा वजन बहुत ही कम था और मेरे पहले बच्चे का वजन 2 किलोग्राम था। मैं भी अक्सर बीमार रहती थी। समूह में जुडने पर सी.आर.डी.आई. बहन चन्द्रकांती के द्वारा जो बातें मुझे बतायी गयी मैने उनका पालन किया और फिर मैने बच्ची के पोषण का पर्याप्त ध्यान रखा। मै दोबारा गर्भवती हुई इस बार मैने अपना पंजीकरण अस्पताल में करवाया था, और हर महीने अपनी जाँचें भी करवाती थी और 5प्रकार का भोजन और साथ में आयरन व कैल्शियम की गोली का सेवन भी करती थी, और पिछले सप्ताह मुझे दोबारा एक लड़की हुई वह स्वस्थ है और उसका वजन 3 किलोग्राम है, तथा प्रसव भी साधारण हो गया, और मै भी स्वस्थ हूँ।