स्वयं सहायता समूह से जुड़कर बहुत खुश हूं 

नाम-कल्पा देवी
समूह-आरती महिला ग्राम पंचायत-बसंतपुर।
ब्लॉक-परसपुर, गोंडा
मैं माह अप्रैल में समूह में जुड़ी, एक छोटी किसान हूं और गोसाई जाति की हूं जो एक अत्यंत की गरीब समुदाय हुआ करता है। हम सभी हींग बेचने का व्यवसाय करतें हैं, जो दूर गांव में जाकर बेचकर आते हैं और कुछ माह बाद उस पैसे की वसूली करतें हैं, अक्सर पूंजी की समस्या आड़े आती है, और व्यवसाय पनप नही पाता, समूह में RF भी मिला, मैन सबकी राय से समूह से ₹20000 ली और इस व्यवसाय में लगाया। हींग बेचने के लिए अपने पति को दूसरे जिले भेजी। हींग से जो आमदनी होती है उसका पैसा कुछ माह बाद मिलता है, 4-5 महीने में मेरी पूंजी दोगुनी यानी कि 40000 हो गई । ऐसा आज तक नहीं हुआ था। मैं स्वयं सहायता समूह से जुड़कर बहुत खुश हूं और परियोजना को बहुत-बहुत धन्यवाद देती हूं।