परिवार  की   स्तिथि  में   बदलाव आया   है

समूह का नाम – लक्ष्मी

ग्रमसंगठन का नाम – पार्वती

ग्राम पंचायत का नाम – उसमानपुर

ब्लॉक – फाजिलनगर

गोरखपुर समूह से जुडंने से पहले मेरे परिवार की आर्थिक स्थिति बहुत खराब थी । बेटी की शादी मे पूरा खेत गिरवी रखना पड़ा जिससे जीवन की मुख्य जरूरतें पूरी नहीं हो पाती थी ।आय का ठोस साधन नहीं होने से साहुकार से अधिक ब्याज पर कर्ज लेना पड़ता था । मै और 12 बहने मिल कर समूह से जुड़ी और  १०० रुपये  प्रति माह बचत करने लगी और मै वर्तमान  मे समूह में अध्यक्ष के रूप में कार्य करती हूं। समूह से क्रमशः तीन बार  मे ऋण ;   ( रू. 15 ,000 , 12,000, 12,000, कुल 39,000 ) लेकर आधि खेत छुड़ाया तथा एक गाय खरीदी जिसका दुध बेच कर परिवारिक आय में वृद्धि  की तथा सिंचाई के साधन की व्यवस्था  किया शिवंश खाद के प्रयोग से सब्जी तथा धान की खेती भी शुरू  किया ।

शिवंश खाद के प्रयोग से खेती के लागत में कमी हुआ तथा पैदवार मे दोगुना की वृद्धि  हुई। अब हमारे परिवार की वार्षिक आय लगभग  रू. 80,000 से भी ज्यादा है। अब मै गिरवी रखा पूरा खेत छुड़ा लिया है। कृषि से पैदवार कैसे दोगुना हो जिस पर राजीव गांधी महिला विकास परियोजना से विभिन्न गतिविधियों पर प्रशिक्षण प्राप्त किया जो निम्नलिखित हैं..

18 दिन  कम्पोस्ट , जीवामृत, पंचगव्य, किचेन गार्डन, श्री एवं स्वीविधि और अन्य प्रशिक्षण जिसके  द्वारा  मेरे  परिवार  की   स्तिथि  में   बदलाव आया  है ।